-->

IAS IPS Officer Kaise Bane। फूल फॉर्म, योग्यता, एग्जाम पैटर्न, और सैलरी।

इस लेख में IAS और IPS बनने की सभी जानकारी के बारेमे जानेंगे। जैसी की IAS IPS Officer Kaise Bane? फूल फॉर्म, योग्यता, एग्जाम पैटर्न, और सैलरी।
हैलो दोस्तों आज हम इस लेख में IAS और IPS बनने की सभी जानकारी के बारेमे जानेंगे। जैसी की IAS IPS Officer Kaise Bane? आईएएस और आईपीएस बनने के लिए योग्यता और आयु सीमा क्या है?, आईएएस एग्जाम पैटर्न, आईएएस बनने के लिए कितने एग्जाम पेपर देने होते है, आईएएस वैकल्पिक विषयों की सूची और वैकल्पिक विषयों की पसंदगी कैसे करे?, आईएएस वैकल्पिक विषयों सफलता की दर और मार्गदर्शन, IPS IAS officer ki taiyari kaise kare? और आईएएस आईपीएस की सैलरी कितनी होती है? इन सभी बाबातो की जानकारी इस लेख में हम आपको देंगे।

ias-ips-officer-kaise-bane
ias-ips-officer-kaise-bane

कई Graduate युवक और युवतियां IAS, IPS, IRS, IFS ऑफिसर बनके समाज की ओर देशकी सेवा करनेका सपना देखते है। आईएएस और आइपीएस अधिकारी बनने के लिए राष्ट्रीय स्तर पे सिविल सर्विस परीक्षा देनी होती है। हर साल सिविल सर्विस परीक्षा के द्वारा कई सारे विभागों में Class-1 officer की भर्ती और पसंदगी करने के लिए स्पर्धात्मक एग्जाम का आयोजन करने में आता है। हर साल 800 से 1200 जितनी जगहों पे क्लास वन ऑफिसर की भर्ती होती है।

मन में समाज और देश सेवा ले लिए कुछ करने की इच्छा हो तो IAS, IPS, IFS, IRS ऑफिसर बनके जितना समाज और देश सेवा के लिए कर सकते है, उतना दूसरे कोई भी व्यवसाय में शक्य नही है। छात्र या उम्मीदवार Civil Services Exams देकर सरकार में उच्च क्लास वन अधिकारी बनके समाज और देश की सेवा करनेका ये सुवर्ण अवसर है।

IAS IPS kya hota hai

IAS और IPS के बारेमे इंटरनेट पर बहोत सारी जानकारी उपलब्ध है पर हम यहां इसे सिम्पल तरीके से बताना चाहते है की, IAS और IPS इंडिया के क्लास वन अधिकारी होते है। ये अधिकारी की पसंदगी सिविल सर्विस परीक्षा और इंटरव्यू से होती है। आईएएस और आइपीएस अधिकारी बनने के लिए हर साल देश में कई सेंटरों पर सिविल सर्विस परीक्षा ली जाती है। परीक्षा में पास होने के बाद आईएएस, आईपीएस ट्रेनिंग सेंटर में कड़ी ट्रेनिंग होती है, आईपीएस ऑफिसर ट्रेनिंग पास करने के बाद आईपीएस अधिकारी रैंक मिलता है जो क्लास वन का रैंक होता है।

IAS, IPS, IRS, IFS का फुल फॉर्म

  • IAS का फुल फॉर्म - इंडियन एडमिनिस्ट्रेटीव सर्विस
  • IPS का फुल फॉर्म - इंडियन पुलिस सर्वि
  • IRS का फुल फॉर्म - इंडियन रेवेन्यू सर्विस
  • IFS का फुल फॉर्म - इंडियन विदेश सेवा

आईएएस योग्यता और आयु सीमा। IPS, IAS Education Qualification & Age Limit

IPS या IAS बनने के लिए योग्यता कोई भी शाखा में Graduate Degree अर्थात BA, B.COM, B.SC, BMS, BE, BCA, इत्यादि ग्रेजुएट डिग्री प्राप्त होनी चाहिए। इसके अलावा छात्र कॉलेज के या ग्रेजुएशन के लास्ट सेमेस्टर की परीक्षा दे रहा हो वो भी सिविल सर्विस परीक्षा का फॉर्म भर सकता है। Degree परीक्षा में टकावारी की कोई मर्यादा नहीं होती।

आईपीएस या आईएएस बनने के लिए आयु सीमा की बात करे तो छात्र या उम्मीदवार की आयु 21 साल से कम और 32 साल से ज्यादा न होनी चाहिए। इसका मतलब ये है की आईएएस के लिए आयु सीमा कमसे कम 18 साल की होनी चाहिए और 32 साल से ज्यादा न होनी चाहिए। इसके साथ ही रिजर्व केटेगरी और शारीरिक असक्षम उमीदवार के लिए पहले से निर्धारित आयु सीमा में छूट मिलती है।

आईएएस एग्जाम पैटर्न

आईपीएस या आईएएस अधिकारी बनने तक पहुंचने के लिए छात्र को तीन भागों से पसार होना पड़ता है, जिसे आईएएस एग्जाम पैटर्न कहा जाता है। एग्जाम पैटर्न के तीन भागों में पहले प्रारंभिक परीक्षा, दूसरा मुख्य परीक्षा और तीसरा यानिकि अंतिम भाग इंटरव्यू का होता है।

स्टेप 1: प्रिलिमिनरी एग्जाम (प्रारंभिक परीक्षा)

सिविल सर्विस की पूर्व एग्जाम में टोटल दो पेपर होते है। पहला पेपर जनरल स्टडीज का होता है जिसके 200 मार्क्स होते है और दूसरा पेपर सिविल सर्विस एप्टिट्यूड टेस्ट, सिएट का होता है वो भी कुल 200 मार्क्स का पेपर होता है। इसका मतलब आईपीएस और आईएएस की एग्जाम 400 मार्क्स की होती है। जिसमे आईएएस सिलेबस की बात करे तो अंग्रेजी ग्रामर, कोमप्रीहेंशन, गणित और रिजनिंग के प्रश्न होते है।

एग्जाम में नेगेटिव मार्किंग भी होता है, जैसे की हर गलत जवाब का 0.33 मार्क्स कट होगा। टोटल 400 मार्क्स का एग्जाम होता है। पर मेरिट में गिनती के लिए केवल पेपर 1 मतलब जनरल स्टडीज का पेपर के मार्क्स ही गिनती में लिए जाते है। पेपर 2 मात्र क्वोलिफाय ही करना होता है, जिसमे 33% मार्क्स लाने होते है। पेपर 2 टोटल 200 मार्क्स का होता है जिसमे क्वोलिफाय करने के लिए 66 मार्क्स लाने होते है।

स्टेप 2: मुख्य परीक्षा

आईपीएस आईएएस मुख्य परीक्षा देने के लिए उमीदवार को प्रिलिमिनरी एग्जाम पास करनी होती है, उसके बाद प्रिलिमिनरी एग्जाम का मेरिट लिस्ट में जिसका नाम आएगा वोह आईपीएस आईएएस मुख्य परीक्षा देने के लिए क्वोलिफाय होता है। मुख्य में टोटल 1750 मार्क्स के 9 पेपर होते है। जिसमे से सबके लिए कंपलसरी पहला पेपर अंग्रेजी का और दूसरा पेपर कोई भी एक भारतीय भाषा का होता है। दोनो पेपर के मार्क्स केवल क्वोलिफाय होने के लिए 25% मार्क्स लाने रहते है। दोनो कंपलसरी पेपर 1 और पेपर 2 का सिलेबस मेट्रिक क्लास का होता है।

स्टेप 3: इंटरव्यू

सिविल सर्विस एग्जाम के मुख्य परीक्षा के मेरिट लिस्ट में जिसका समावेश होगा उन सभी उम्मीदवार को स्टेप 3 मतलब इंटरव्यू के लिए बुलाने में आएगा। आईपीएस, आईएएस का इंटरव्यू कुल 275 मार्क्स का होता है। जिसमे उमीदवार की निर्णय शक्ति, विषय को समझ के काम करने की रीत, मानसिक परिपक्वता, स्वभाव इत्यादि बाबतो का विश्लेषण होता है। उमीदवार की कार्य शक्ति, विचार शक्ति, परिपक्वता, ग्रहण शक्ति और परिस्थिति के अनुरूप कार्य दक्षता के आधार पर मार्क्स मिलते है। अंत में फाइनल मेरिट लिस्ट में मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू के गुण का टोटल करके, फिरसे फाइनल मेरिट प्रसिद्ध होगा जिसमे समावेश सभी उम्मीदवार अपनी पसंद की पोस्ट के लिए पसंद करने में आते है।

आईएएस एग्जाम पेपर

क्वोलिफायिंग पेपर

  • पेपर A - अंग्रेजी भाषा
  • पेपर B - भारतीय भाषा

मेरिट लिस्ट में गिनती होने वाले पेपर

  • पेपर 1 - निबंध लेखन
  • पेपर 2 - भारतीय संस्कृति वारसो, भारत और विश्व का इतिहास और भूगोल
  • पेपर 3 - प्रशासन, भारतीय बंधारण, राजनीति, सामाजिक न्याय और आंतरराष्ट्रीय संबंध
  • पेपर 4 - टेक्नोलोजी, आर्थिक विकास, पर्यावरण, सिक्योरिटी और डिजास्टर मैनेजमेंट
  • पेपर 5 - एथिक्स, इंटीग्रिटी और एप्टिट्यूड
  • पेपर 6, 7 - वैकल्पिक विषय

"Slow and Study With The Race"  सिविल सर्विस एग्जाम की तैयारी

आईपीएस, आईएएस एग्जाम का सिलेबस विस्तृत है, उसको पूरा करने के लिए दो या तीन साल आगे से पूर्व तैयारी शुरू कर दी हो तो मुश्किल नहीं है। ये एग्जाम युनिवर्सिटी की एग्जाम जैसी नहीं होती की जिसमे फर्स्ट क्लास, ग्रैंड होता हो और पास हो जाए।  राष्ट्रीय स्तर पर ली जाती इस एग्जाम में हर साल जितनी जगह खाली होती है, उतनी ही सीट भरी जाती है, इसलिए उमीदवार को ऑल इंडिया मेरिट लिस्ट आना जरूरी है। इसके बाद आईएएस वैकल्पिक विषयों की पसंदगी, आईपीएस आईएएस की तैयारी कैसे करे? इन सब प्रश्नों के लिए मार्गदर्शन भी जरूरी है।

आईएएस वैकल्पिक विषयों की सूची और पसंदगी

आईपीएस आईएएस एग्जाम में कोई भी Degree धारक एग्जाम दे सकता है और जिसमे टकावरी जरूरी नहीं है। इस एग्जाम में सफल होने के लिए आईएएस वैकल्पिक विषयों की सूची तैयार करना जरूरी है और इसके साथ ही वैकल्पिक विषयों की योग्य पसंदगी बहोत ही जरूरी है। उमेदवारो को मुख्य एग्जाम में वैकल्पिक विषयों की पसंदगी योग्य करनी जरूरी है। उमीदवार कोई भी क्षेत्र में कोई भी विषय की डिग्री प्राप्त की हो और आईएएस एग्जाम में अपनी डिग्री का विषय पसंद करना जरूरी है, जो उसको एग्जाम पास करने के लिए कोई भी भारतीय भाषा के और अंग्रेजी साहित्य के विषय में से पसंद किया एक विषय लेने की छूट होती है।

एग्जाम में जो भी विषय रखा हो पर आप अपना मेरिट के आधार अनुसार आपकी पसंदगी की पोस्ट प्राप्त कर सकोगे। इसलिए आईएएस एग्जाम में वैकलिप विषयो में अपने मनपसंद विषय की पसंदगी करनी चाहिए। जिससे पसंद किए विषय की आप खूब अच्छे से तैयारी कर सको और अच्छे मार्क्स लेकर आईएएस ऑल इंडिया मेरिट लिस्ट सामिल होके अपनी पसंद की रैंक प्राप्त कर सको।

आईएएस वैकल्पिक विषयों सफलता की दर और मार्गदर्शन

खुद को किस विषय में ज्यादा रस है और किस विषय में काम रस है उसको जानने के लिए कोई साधन नहीं है पर अपनी पसंद का विषय जानने के लिए एक सीधा और सरल रास्ता है, उसको अजमा सकते हो। जब हम कोई विषय की बुक पढ़ते है और घर में मोबाइल बज रहा हो, डोरबेल बजे, घर में कोई सभ्य कोई काम करने कहे तब या कोई मित्र मिलने आए और तब बात करने का मन न हो और मन में ऐसा हो की ये कब जाए और में अपनी बुक पढ़ना चालू करी तब समझ लेना कि उस विषय में आपको ज्यादा रस है। इस तरह आप अपने पसंद के विषय की खोज कर सकते हो।

सिविल सर्विस एग्जाम में जनरल स्टडीज में भारतीय इतिहास, भूगोल, अर्थशास्त्र, राजनीति, सामान्य विज्ञान इत्यादि विषय सामिल है। सामान्य अध्ययन के पेपर में ज्यादा विषय आते है इसलिए पढ़ने की शुरुआत जनरल स्टडीज से करनी चाहिए और उसके बाद अपने मनपसंद विषय पढ़ना चाहिए। इसके साथ ही अपना पसंदीदा और रस रुचि वाला विषय को वैकल्पिक विषय में पसंद करना चाहिए। समय की बचत, पढ़के अपनी खुद की नोट्स बनाने की कोशिश करो जो अपने एग्जाम पास करने के लिए बहोत जरूरी है।

आईपीएस ऑफिसर की तैयारी कैसे करे?

आईएएस एग्जाम के अलावा भी UPSC दूसरी बहोत टॉप लेवल की Class-1 Exams का संचालन करता है, जिसमे IES, IEE & SS, इंडियन फॉरेस्ट सर्विस, मेडिकल सर्विस, सेंट्रल पुलिस ऑर्गेनाइजेशन, जियोलॉजिस्ट, NDA, CDS इत्यादि एग्जाम का संचालन UPSC ही करता है। इसके उपरांत स्टाफ सिलेक्शन कमिशन द्वारा कस्टम्स, इंकमटेक्स, CBI, GST इंस्पेक्टर तथा विविध राज्यो की स्टेट पब्लिक सर्विस कमीशन GPSC, MPSC जिसमे डेप्युटी कलेक्टर, डेप्युटी सुप्रीटेंड ऑफ पुलिस, असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस, सोसायटी रजिस्ट्रार, मामलतदार इत्यादि कई पोस्ट, Class-1 जैसी विविध व्यवसायलक्षी स्पर्धात्मक एग्जाम दे सकते है इस एग्जाम्स का अनुभव के साथ आईएएस एग्जाम की प्रेक्टिस कर सकते हो।

आईएएस आईपीएस की सैलरी

आईएएस आईपीएस की सैलरी की बात करे तो IAS, IPS, IRS, IFS को Class-1 ऑफिसर का रैंक मिलता है जो सबसे बड़ा होता है। Class-1 अधिकारी की सैलरी हर महीने 80,000/- रुपिया होती है और इसके साथ ही बहोत अच्छा ग्रेड पेभी मिलता है।

निष्कर्ष

दोस्तो आज हमने इस पोस्ट में IAS IPS Officer Kaise Bane? आईपीएस आईएएस का फुल फॉर्म, Class-1 ऑफिसर बनने के लिए योग्यता, आईपीएस आईएएस एग्जाम पैटर्न, आईएएस आईपीएस की सैलरी कितनी होती है? आईएएस वैकलिप्क विषयो की सूची, पसंदगी इन सबके बारेमे जाना। इसके साथ ही हमने जाना ही आईपीएस आईएएस एग्जाम की तैयारी कैसे करे? तो मित्रो आशा करता हु आपको ये लेख से बहोत सारी जानकारी मिली हो और इसके साथ ही इस लेख को अपने मित्र, साथी जो आईपीएस आईएएस बनाना चाहते हो और आइपीएस आईएएस की तैयारी कर रहे हो उनको जरूर शेर करे जिससे उनको भी सिविल सर्विस एग्जाम के बारेमे जानकारी मिल शेक धन्यवाद।

-->