अनुवाद के क्षेत्र में रोजगार और संभावनाएं। Career in language translation in India

इस पोस्ट में अनुवाद के क्षेत्र में रोजगार और संभावनाएं। Career in language translation in India के बारेमे जानेंगे।
हेलो दोस्तो आज हम इस पोस्ट में अनुवाद के क्षेत्र में रोजगार और संभावनाएं। Career in language translation in India के बारेमे जानेंगे। ये बहुभाषीय विश्व में अनुवाद (translation) का अपना विशेष महत्व है। अनुवाद को एक भाषा से दूसरी भाषामे ज्ञान का स्त्रोत भी कहा जाता है। हकीकत, मानव संस्कृति की शुरुआत से मानव प्रजाति ने एक दूसरे के विचार और ज्ञान को जानने और समझने का प्रयत्न किया है। ऐसा कहने में आता है की "कोस कोस में पानी बदलो, चार कोस में पानी"।

career-in-language-translation
career-in-language-translation-in-india

आज भी विश्वभर में लगभग 6500 language बोली जाती है। अब सभी भाषाएं हम लोगो को समझ नहीं आती, पर हर व्यक्ति, समाज और देश अपना ज्ञान और माहिती दूसरे व्यक्ति, समाज और देशों के साथ बाटना चाहता है और इससे अनुवाद या भाषांतर का महत्व आत्म सिद्ध है।

अनुवाद क्या होता है ? What is language translation ?

आज विश्वकी तमाम मुख्य भाषाओं में अनुवाद का कार्य और व्यवसाय सबसे ऊपर है। सबसे पहले हम समझे की अनुवाद का अर्थ क्या होता है ? अनुवाद की बहोत ज्यादा निष्कर्ष राजू किए गए है जैसे की "अनुवाद एक मानसिक प्रवृत्ति है जिसमे कोई वस्तु, विचार या संदेश को एक भाषा से दूसरी भाषा में रजू करने में आती है"। वाक्य और विचार दूसरी भाषा में समान अर्थों में रूपांतरित होता है। दूसरी व्याख्या मुजब, अनुवाद एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे एक भाषा के शब्दो और लेखन को दूसरी भाषा में रूपांतरित करने में आता है, जैसे की हिंदी भाषा को अंग्रेजी में या अंग्रेजी भाषा को हिंदी में अनुवाद करना। अनुवाद एक भाषा का लिखित या बोला हुआ भाग है, जो सामान भाषा की अन्य भाषा के साथ अनुकूल होता है।

अनुवादक और दुभाषिया का व्यवसाय

अनुवादक एक ऐसी व्यक्ति है जिसका अर्थ एक स्त्रोत की भाषा से दूसरे लक्ष्य की भाषा में अनुवाद करनार या अनुवादक के तोर पर समान अर्थ में होता है, और ये व्यक्ति जो लक्ष्य भाषा में समान अर्थ के साथ स्त्रोत भाषा में बोली जाती बातचीत को व्यक्त करता है।

अनुवादक और दुभाषियाओ को अनुवाद में रोजगार की संभावनाएं

भारत देश में केंद्र और राज्य मंत्रालय और Government Sector, दूतावास, International Company's, Corporate Sector, Newspapers, सामायिक, Social Media, Private Company, Banks और नाणकीय संस्था ओ में उसके साथ प्राइवेट क्षेत्र के अलग अलग क्षेत्रो में अनुवादक और दुभाषियाओ की मांग सतत बढ़ रही है।सरकारी विभागों में शुरुआत में उमीदवार को junior language translator की पोस्ट पे काम मिलता है। थोड़े वर्षो के अनुभव के बाद उमीदवार को वरिष्ठ अनुवादक (translator) के पोस्ट पर प्रमोशन मिलता है।

सफल अनुवादक बनने के रास्ते

  • ज्ञानविद कहते है की यहां कोई शॉर्टकट नही है या सफलता का एक मात्र रास्ता नही है। फिर भी, यहां थोड़े मुद्दे को ध्यान में रखके, आप सफल अनुवादक या दुभाषिया बन सकते है। 
  • सबसे पहले आपके पास अनुवाद और अर्थघटन के कार्य के लिए स्त्रोत भाषा और लक्ष्य भाषा का संपूर्ण ज्ञान होना आवश्यक है।
  • आपके पास संस्कृति और पर्यावर या देश और उसकी सामाजिक, आर्थिक और राजकीय सिस्टम स्त्रोत की भाषा और लक्ष्य भाषा से संबधित सभी ज्ञान होना चाहिए।
  • आपके पास आपकी स्त्रोत भाषा और लक्ष्य भाषा के व्याकरण पर संपूर्ण अनुभव होना चाहिए, साथ ही आपकी स्त्रोत भाषा और लक्ष्य भाषा के नवीनतम अपडेट्स लेते रहे।

अनुवादक बनने के लिए योग्यता

मान्यता प्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी में से कोई भी भाषा में एक भाषा सहित कोई भी विभाग में स्नातक (Graduate Degree) होनी चाहिए। आप Translation में Degree, Diploma ओर Certificate Course भी कर सकते हो। अलग अलग सरकारी विभागों में अनुवादक की नोकरी के लिए Degree, Diploma और Certificate को ज्यादा महत्व दिया जाता है। अनुवाद की नोकरी के लिए आपकी भाषा कुशलता की परख के लिए सामान्य परीक्षण या इंटरव्यू लेने में आता है।

आजकल Internet और Digitisation के कारण आपके पास Computer की अच्छी कुशलता भी होनी चाहिए। विविध Projects, Freelancing और Jobs द्वारा अनुवाद के क्षेत्र में रोजगार के लिए अच्छा अनुभव लेना चाहिए।

अनुवाद और अर्थघटन के क्षेत्र में आप प्रोजेक्ट्स और कार्यकारी अनुभव प्राप्त करने के बाद, आप अपनी प्रतिभा को प्रगट करे या दूसरे शब्दो में आप अपना Marketing शुरू करे। अनुवाद के व्यवसाय के लिए ओपचारिक तालीम ले और अनुवाद की चकासनी करे। अनुवाद और अर्थघटन के क्षेत्र में हमेशा नवीनतम अपडेट्स लेट रहे।

अनुवादक बनने के लिए कितना समय लगता है ?

भारत देश में सामान्यतः Post Graduation in language translation में 2 Years का कोर्स होता है । अगर आप अनुवाद में M.Phil और P.HD की Degree प्राप्त करना चाहते हो तो आपको इसके लिए 5 Year का कोर्स करने में थोड़ा ज्यादा समय हो सकता है।

अनुवाद में कौनसी भाषा की ज्यादा मांग है ?

अपने देश में इस भाषाओं में अनुवादकों की ज्यादा मांग है; French, German, Portuguese, Russian, Spennish, Arabic, Chinese, Japanese, English, Hindi language translation, Korean इत्यादि। इसके अलावा अलग अलग भारतीय भाषाओं में अनुवादकों और इंटरप्रिटर्स की बहोत ज्यादा मांग है। भारतीय बंधारण में कुल 18 भारतीय भाषाओं को राष्ट्रभाषा का दर्जा मिला है और हिंदी के अलावा अंग्रेजी और उर्दू को सत्तावार कार्य की भाषा के तोर पर मान्यता दी गई है।

अच्छे अनुवादक बनने के लिए महत्वपूर्ण कुशलताए

आपके पास स्त्रोत भाषा से लक्ष्य भाषा तक की चोककस श्रेणी में लिखने की उत्तम क्षमता होनी चाहिए। शैली, स्वर और सांस्कृतिक तत्वों के एक भाषा से दूसरी भाषा में बदलने की अच्छी क्षमता होनी चाहिए। स्त्रोत भाषा और लक्ष्य भाषा के व्याप की संपूर्ण क्षमता को परखे। स्त्रोत भाषा और लक्ष्य भाषा ने सांस्कृतिक, तकनीकी, व्यापारी, औद्योगिक और वैज्ञानिक क्षेत्रो में विशेष ज्ञान होना चाहिए। आजकल अनुवाद के क्षेत्रों में भी विशेषता है जैसे की, कानूनी अनुवाद, तबीबी अनुवाद, मार्केटिंग या व्यवसाय संबधित अनुवाद इत्यादि। आप अपने विशेषता क्षेत्र को पसंद करके आगे बढ़ सकते हो।

अनुवाद के क्षेत्र में रोजगार के अवसर पाने के लिए मूल्य

  • आप सभी पहलू को ध्यान से सुने और समझने का प्रयास करे।
  • आपके पास उत्तम संवेदनात्मक, स्पष्ट, महत्तम कुशलता होनी आवश्यक है।
  • बहोत सारी भाषाओं में आपका शब्द भंडोल बहोत अच्छा होना चाहिए।
  • अर्थघटन के वक्त हमेंश सचेत रहे।
  • मुश्किल वक्ताओ के साथ काम करते वक्त अच्छा आत्म नियत्रण रखे।
  • भावात्मक बाबतो में मजबूत बने।

सांकेतिक भाषा में अनुवाद

न सुनने वाले और न बोलने वाले लोगो के लिए संकेत की भाषा या हावभाव की भाषा में अनुवादक बनने के लिए आपको इंटरप्रीटर रजिस्ट्री द्वारा प्रमाणपत्र के साथ कोईभी शिक्षा में ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए।

फ्रीलांसर अनुवादक

फ्रीलांसर अनुवादक ये एक स्वरोजगार व्यक्ति है, ये विविध ग्राहकों, अनुवादक एजेंसियों, बहुराष्ट्रीय कंपनियों और संस्थाओं के लिए स्वतंत्र करार पर काम करते है।

अनुवाद के क्षेत्र में वेतन

भारत में अनुवादक का सरेराश वार्षिक वेतन पैकेज 4 लाख से 5 लाख होता है। कार्य अनुभव और योग्यता की डिग्री की आपके वेतन पैकेज पर बहोत बड़ी असर होती है। अनुवादक सामान्य रीत उसके एक घंटे के समय के लिए 250/- रूपी ले सकते है। अनुवादक का वेतन बहोत अच्छा है, सामान्य तह अपने देश में एक अनुवादक का वार्षिक वेतन 6 लाख से 7 लाख रुपिया मिलते है। काम के अनुभव और बोलने की कुशलता अनुसार आपका वेतन इससे भी बढ़ सकता है।