-->

गुजरात टू व्हीलर स्कीम क्या है? Gujarat Two Wheeler Scheme

गुजरात राज्य के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने राज्य के नगरों में वाहनों से वायु प्रदूषण रोकने के लिए बैटरी से चलता Two Wheeler Scheme की जाहेरात की है।
गुजरात राज्य के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने राज्य के नगरों में वाहनों से वायु प्रदूषण रोकने के लिए बैटरी से चलता Two Wheeler Scheme की जाहेरात की है। Two Wheeler और Three Wheeler के उपयोग को करने के लिए गुजरात टू व्हीलर स्कीम की जाहेरात की है। इस सहाय के अंतर्गत राज्य के 9th क्लास से कॉलेज तक के छात्र को रूपी 12,000/- ई-स्कूटर पर सब्सिडी मिलेगी।

gujarat-two-wheeler-scheme
गुजरात-टू-व्हीलर-स्कीम

गुजरात टू व्हीलर स्कीम क्या है ? Gujarat Two Wheeler Scheme

राज्य के दस हजार ई स्कूटर को सबसिडी देने का लक्ष्यांक है, इतना ही नहीं राज्य सरकार ने बैटरी संचालित ई रिक्सा की खरीददारी पर 48,000/- व्यक्तिगत और सस्थाकीय लाभार्थियों और ांच ई रिक्सा को लाभ मिलेगा। रुपिया 50 लाख ई स्कूटर सुविधा उपलब्ध करने के लिए, मुख्य प्रधान ने वडा प्रधान नरेंद्र मोदी के 70में जन्मजयंती पर राज्य की पांच विकास योजनाओं की पंचशील भेट के तोर पर राज्य के नागरिक और पर्यावरण मित्र के लिए भेट दी गई है।

इसके अलावा, बैटरी संचालित वाहनों के चार्जिंग के लिए बढ़ी सुविधाएं पूरी करने के लिए 50 लाख की योजना भी लागू की गई है। आज से 11 साल वर्ष पहले नरेंद्र मोदी जब गुजरात के प्रधान मंत्री थे तब उसने हवामान विभाग की स्थापना की थी। विभाग की स्थापना दिन को उजवणी के लिए श्रेणीबद्ध कार्यक्रम हुए थे। देश के सौरमंडल में गुजरात की अग्रणी वीडियो पे बातचीत द्वारा इस कार्यक्रम को संबोधित करते मुख्यमंत्री ने कहा था कि जिन एनर्जी क्लीन एनर्जी वाला गुजरात।

टू व्हीलर योजना । Gujarat Two Wheeler Scheme

  • ये योजना द्वारा फक्त बैटरी संचालित ई-स्कूटर की ही खरीदी हो शक्ति है।
  • द्विचकरी योजना अंतर्गत लगभग 10 हजार ई स्कूटर देने में आएंगे।
  • इस योजना के द्वारा सहाय 12,000/- रुपिया मिलेंगे।
  • ई रिक्सा की योजना में 50,000/- की सबसिडी देने में आएगी।
  • ई रिक्सा योजना अंतर्गत लगभग पांच हजार ई रिक्सा देने में आएंगे।
  • टू व्हीलर योजना के अंतर्गत बैटरी संचालित ई-स्कूटर और ई रिक्सा खरीद सकते हो।

मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भविष्य में आनेवाले पड़कारों को ध्यान में रखते हुए देश में समयसर हवामान परिवर्तन विभाग बनाया था। गुजरात देश में सौरमंडल विकास में अग्रेसर है। गुजरात एक ऐसा राज्य है जो बारह महीने तक महत्तम सूर्यप्रकाश लेता है। गुजरात सरकार का लक्ष्य यही है की रिन्यूएबल एनर्जी सूर्यप्रकाश से उत्पन्न करना और नागरिकों को सस्ती बिजली देना यही है। इसी समय, नागरिक अपने घर की छत पर बिजली उत्पन करने और सोलर छत प्रोजेक्ट गुजरात की पहेचान बन गया है।

चालू साल में 2 लाख मकान पर सोलर सिस्टम लगानेका लक्ष्यांक मुख्यमंत्री ने रखा है। मकान पर सोलर सिस्टम लगाने में गुजरात देश में प्रथम नंबर पर है। लास्ट तीन साल में सरकारी सबसिडी की मदद से 1 लाख 38 हजार से भी ज्यादा कुल 510 मेगावॉट सोलर सिस्टम स्थापित की गई है। चालू साल में भी रूपी 915 करोड़ की जोगवई के साथ 2 लाख मकान पर सोलर सिस्टम लगाने का प्रोजेक्ट है।

राज्यमे बिजली की कुल स्थापित क्षमता 35,500 मेगावॉट है। नवीनीकरण ऊर्जा का योगदान 30% है, वो राष्ट्रीय सरेराश 23% से भी ज्यादा है। साल दरमियान लगभग 2 मिलियन टन कार्बन डाइऑक्साइड वातावरण में उत्सर्जीत होता है और 10 मिलियन तन कोलसा बिजली उत्पादन के लिए बचाने में आता है।

वातावरण की शुद्धता भी जरूरी है, समाचार को ज्यादा अच्छे से बनाने के लिए हमारी सहाय करे, क्या ये माहिती पूरी है? अगर हमारी ये माहिती अच्छी है तो आपके सवाल और जवाब नीचे कॉमेंट में जरूर साझा करे।

Gujarat Two Wheeler Scheme official website: https://geda.gujarat.gov.in
Gujarat Two Wheeler Scheme form: Click Here
-->